UP Board syllabus Class 11th
Board UP Board
TextbookNCERT
Class 11th
Subject English
Chapter 1
Chapter nameMy Struggle for An Education
CategoryEnglish PROSE Class 11th

Long Answer Type Questions class 11 Chapter 1

UP Board chapter 1 Class 11 English

My Struggle for An Education Class 11
Summary of the Lesson 1 Class 11
Explanations with Reference to the Context Class 11th
Comprehension Questions or Paras Class 11th
Short Answer Type Questions Class 11th
Long Answer Type Questions class 11
FILL IN THE BLANKS Class 11th

Q.1. How did BrookerT.Washington getadmitted to the Hampton Institute?
बुकर टी. वाशिंगटन को हेम्पटन स्कूल में प्रवेश कैसे मिला?

Or

Narrate the difficulties the author faced to get admission to the school in
Hampton.
हेम्पटन स्कल में प्रवेश पाने में लेखक को किन कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।

Ans. Introduction-The writer of the lesson ‘My Struggle For An Education is Brooker T.Washington. He isanegroeducator and reformer. He worked in a coal mine. One day two miners were talking about a great school for coloured people. By chance he heard what they were saying. The writer made up his mind to go there and get admission.

His journey to Hampton

His journey to Hampton– He started on his journey witha very littleamount of money. He took some clothes. He walked on foot, begged for rides in wagons and in the cars.After several day’sjourney, he reached Richmond. He worked on a ship and eamed some money, He started to Hampton and reached there.

Hampton Institute

Hampton Institute-The author reached at Hampton. He was very happy to see the school building. He presented himself before the head teacher for admis. sion.Ashe had madea long journey to Hampton he was tired, hungry and dirty. Som he could not makea favourable impression upon her. He keptlingering abouther.

His sincere work and admission

His sincere work and admission-After some hours the head teacher asked the writer to sweep the recitation room. He thought it was the best chance for him to show his worthiness. He knew that his admission depended on it. So, he carried out her orders gladly. He swept the room three times and dusted it four times. He thoroughly cleaned the furniture. Then he reported to the head teacher. She in- spected the floorand the closets. She did not find dirt any where. She was satisfied and told him that she would admit him. Thus, he was admitted to the Hampton Institute.

प्रस्तावना-‘

प्रस्तावना-‘My Struggle For An Education’ पाठ का लेखक बुकर टी, वाशिंगटन है। वह एक हवशी शिक्षाविद् तथा सुधारक है। वह एक कोयले की खान में काम करता था। एक दिन दो कोयला
की खान में कार्य करने वाले काले लोगों (हवशी लोगों) के एक बड़े स्कूल के बारे में बातें कर रहे थे।। भाग्यवश उसने उनकी बातों को सुन लिया। लेखक ने वहाँ जाने और उस स्कूल में प्रवेश लेने का निश्चय किया।

उसकी हेम्पटन यात्रा-

उसकी हेम्पटन यात्रा- वह बहुत कम धन के साथ अपनी यात्रा पर निकला। उसने कुछ कपड़े लिए। वह पैदल चला, रेल और कारों में बिना किराया दिए यात्रा की। कई दिनों की यात्रा के बाद, वह रिचमॉन्ड पहुँचा। उसने एक जहाज पर कार्य किया और कुछ धन कमाया। वह हैम्पटन के लिए चला और वहाँ पहुँच गया।

हेम्पटन स्कूल

हेम्पटन स्कूल- लेखक हेम्पटन पहुँचा। वह स्कूल के भवन को देखकर बहुत प्रसन्न हुआ। उसने अपने आपको स्कूल की प्रधान अध्यापिका के समक्ष प्रस्तुत किया। क्योंकि उसने हेम्पटन पहुँचने के लिए लम्बी यात्रा की थी, वह थक गया था, भूखा और गन्दा हो गया था। अतः वह प्रधान अध्यापिका के ऊपर अनुकूल प्रभाव नहीं डाल सका। वह उसके इर्द-गिर्द मँडराता रहा। ।

उसका सच्चा कार्य और प्रवेश-

उसका सच्चा कार्य और प्रवेश- कुछ घण्टे बाद प्रधान अध्यापिका ने उससे कथन कक्ष की सफाई करने को कहा। उसने सोचा कि यह उसकी योग्यता सिद्ध करने का सर्वोत्तम अवसर था। वह जानता था
कि उसका प्रवेश इसी पर निर्भर करता था। इसलिए उसने उसकी आज्ञा को प्रसन्नतापूर्वक पालन किया। उसने कमरे को तीन बार झाड़ा और चार बार पोंछा लगाया। उसने फर्नीचर को भली प्रकार साफ किया। फिर उसने प्रधान अध्यापिका को सूचना दी। उसने फर्श और अन्य सामान का निरीक्षण किया। उसे कहीं भी गन्दगी नहीं मिली। वह सन्तुष्ट हो गई और लेखक से कहा कि वह उसे प्रवेश दे सकती है। इस प्रकार उसे हेम्पटन स्कूल में प्रवेश मिला।

Q.2.What impression does the lesson ‘My Struggle For An Education’ leave upon you?
My Struggle For An Education पाठ आपके ऊपर क्या प्रभाव डालता है? |

or

whatlesson doyou derive from the lesson ‘My Struggle ForAn Education?
‘My Struggle For An Education’ पाठ से आपको क्या शिक्षा मिलती है?

Ans. Introduction-The lesson ‘My Struggle For An Education leaves an im- pression upon us that we can get our aim successfully if we are determined to do the work laboriously. The author worked inacoal mine. But he madeup his mind togeteducation in the best school at Hampton.

His firm determination

His firm determination-Theauthor was without money. His mother was weak in health due to illness. Even then he got permission from her mother to start his journey to Hampton. He took help from his brother. His determination was firm.
Therefore, hestarted to Hampton..

Difficulties amidst the way

Difficulties amidst the way- He walked on foot, remained hungry, slept un- der the side walk. He worked on the ship for money. He was all alone but he did not feel disheartened. He remained courageous and hopeful. He reached Hampton
and presented himself before the head teacher. At first, she did not allow him admission to the class as he could notproduce good impression upon her.

Lesson of the essay

Lesson of the essay- The writer faced every difficulty and in the end, he was admitted to the school. In this way, we can learna lesson of getting success in our purpose. If we are singleminded toobtain it and have courage to face every diffi-
culty we can be successful. If we are determined, nothing is impossible..

प्रस्तावना

प्रस्तावना-‘My Struggle For And Education’ पाठ हमारे ऊपर प्रभाव डालता है कि यदि हम परिश्नमपूर्वक अपने कार्य को करने के लिए दृढ़ प्रतिज्ञ हैं तो हम सफलतापूर्वक अपने उद्देश्य को प्राप्त कर सकते है। लेखक एक कोयले की खान में काम करता था। लेकिन उसने सबसे अच्छे स्कूल हेम्पटन में शिक्षा प्राप्त करने का संकल्प किया।

उसका दृढ़ निश्चय-

उसका दृढ़ निश्चय- लेखक के पास धन नहीं था। बीमारी के कारण उसकी माँ का स्वास्थ्य खराब था। फिर भी हेम्पटन जाने के लिए उसने अपनी माँ से आज्ञा प्राप्त कर ली। उसने अपने भाई से मदद ली। उसका निश्चय द था। इसलिए वह हेम्पटन के लिए चल दिया।

रास्ते में कठिनाइयाँ-

रास्ते में कठिनाइयाँ वह पैदल चला, भूखा रहा, सड़क के सहारे पगडण्डी पर सोया। उसने धन के लिए एक जहाज पर कार्य किया। वह बिल्कुल अकेला था लेकिन वह निराश नहीं हुआ। वह साहसी और आशावान बना रहा। वह हेम्पटन पहुँच गया और प्रधान अध्यापिका के समक्ष प्रस्तुत हुआ। पहले, उसने उसे प्रवेश नहीं दिया क्योंकि वह उसके ऊपर अच्छा प्रभाव नहीं डाल सका था।

पाठ से शिक्षा-

पाठ से शिक्षा- लेखक ने हर कठिनाई का सामना किया और अन्त में उसे स्कूल में प्रवेश मिल गया। इस प्रकार, हम अपने उद्देश्य में सफलता प्राप्त करने की शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। यदि हम दृढ़
प्रतिज्ञ हैं और प्रत्येक कठिनाई का मुकाबला करने का साहस रखते हैं तो सफल हो सकते हैं। यदि हमारा संकल्प दृढ़ है, तो कुछ भी असम्भव नहीं है।

Q.3.What was the greatest examination for Brooker T. Washington ? Could hepass this examination?Ifso, How?
बुकर टी. वाशिंगटन के लिए सबसी बड़ी परीक्षा क्या थी? क्या वह परीक्षा उत्तीर्ण कर सका? यदि
हाँ तो कैसे?

Or

Howdoyou know that the words, “I was tired, I was hungry, I was everything but discouraged, “describe the truecharacter of Brooker T. Washington.
आप किस प्रकार समझ पाते हैं कि ये शब्द, “मैं थका हुआ था, मैं भूखा था, मैं सब कछ के साथ हतोत्साहित था’ बुकर टी, वाशिंगटन के चरित्र की सत्यता का वर्णन करते हैं?

Ans. Introduction

Ans. Introduction-Brooker T. Washington is the author of the lesson ‘My Struggle ForAn Education’. He wanted togetadmission in Hampton Normal and Agricultural Institute in Virginia. Heaimed at getting education in the best school. This school meant forgiving education to the Negroes. |

Author went to head teacher AfterreachingHampton school, the writer went to the head teacher. Heasked her to allow him admission to the class. But the head teacher neither allowed admission for him nor did she refuse. The reason was that he could not impress her with his dress and address. He lingered about her.After some time, sheasked him to sweep the recitation room.

Performed his duty

Performed his duty-Washington accepted the order delightfully. He started sweeping the room and dusting the woodwork and every nook and corner of the room. He swept the room three times and dusted it four times. The head teacher inspected the room. She was pleased enough and allowed him admission.

Conclusion-

Conclusion- Theauthor felt himselfas one ortne happiestsouls on the earth. In this way. sweeping the recitation room was the greatest examination for the author and he could pass this examination very successfully.

भमिका-

भमिका-‘Mv.Struggle For An Education’पाठ का लेखक बुकर टी. वाशिंगटन है। हेम्पटन नॉरमल एण्ड एग्रीकल्चरल इन्स्टीट्यूट वजीनिया म प्रवश पाना चाहता था। उसका लक्ष्य
सर्वोत्तम स्कल में शिक्षा प्राप्त करना था। यह स्कूल हवाशया क शिक्षा प्राप्त करने के लिए बनाया। गया था।

लेखक प्रधान अध्यापिका के पास गया-

लेखक प्रधान अध्यापिका के पास गया- हेम्पटन स्कूल पहुंचने पर लेखक प्रधान अध्यापिका के पास गया। उसने उससे कक्षा में प्रवेश देने के लिए कहा। लेकिन प्रधान अध्यापिका ने न तो उसको प्रवेश
दिया और न मना किया। कारण था कि वह अपने वस्त्र और बातचीत से उसे प्रभावित नहीं कर सका।। वह उसके आस-पास टहलता रहा। कुछ समय बाद, उसने उससे कथन कक्ष की सफाई करने को कहा।

अपना कर्तव्य निभाया-

अपना कर्तव्य निभाया वाशिंगटन ने प्रसन्नतापूर्वक आज्ञा को स्वीकार किया। उसने कमरे को झाडना प्रारम्भ कर दिया और लकड़ी के प्रत्येक सामान तथा कमरे के प्रत्येक स्थान को पोछ दिया। उसने कमरे को तीन बार झाड़ा और चार बार धूल साफ की। प्रधान अध्यापिका ने कमरे का निरीक्षण किया। वह काफी खुश हुई और उसे प्रवेश दे दिया।

उपसंहार-

उपसंहार- लेखक ने अपने आपको संसार की सबसे प्रसन्न आत्मा महसूस किया। इस प्रकार, कथन कक्ष की सफाई ही सबसे बड़ी परीक्षा थी और लेखक ने उसे सफलतापूर्वक उत्तीर्ण कर लिया।

Q.4.What difficulties did the writer face in the way to Hampton? |
हेम्पटन के रास्ते में लेखक ने किन कठिनाइयों का सामना किया?

Or

How did the writer get success in his struggle foran education?
शिक्षा प्राप्त करने में लेखक ने कैसे सफलता प्राप्त की? |

Or

Briefly describe how the author of’My Struggle for An Education’ struggled with various difficulties to reach Hampton.
‘My Struggle For An Education’ पाठ के लेखक ने हेम्पटन पहुँचने के लिए विभिन्न कठिनाइयों के लिए जो संघर्ष किया उसका संक्षेप में वर्णन करो।

Ans. The writer of this lesson worked in a coal mine. There, he heard two miners talking about a great shcool for coloured (black) people. Heat once deter- mined to get admission in that school. This was his main aim of life. .

Toachieve hisaim, he had to face many difficulties. His mother was weakand ill. He got her permission and started towards Hampton with a small bag and a little money. The distance from Malden to Hampton was about five hundred miles. By walking and begging rides in wagons and in the cars he reached Richmond which was about eighty two miles from Hampton.

The writer reached Richmond late in the night. He was tired, hungry and dirty. I He had no money to get lodging or buy food. He walked the streets till after mid-
night. He lay down under the side walk to pass the night. Next day he gota jobof unloading a ship of pig iron. He got some money and took his best breakfast. He worked there for some days. He saved some money and started again on his, journey to Hampton.

The writer appeared before the head teacher. As he was without proper food, withoutbathand without clean clothes,he could not impress thehead teacher. He waited for an opportunity to show his worthiness. At last the head teacher asked
him to sweep therecitation room. Theauthor cleaned the room very sincerely.The head teacher inspected the room and becamepleased. She admitted him. Thus the writer got admission after facing many difficulties.

इस पाठ का लेखक एक कोयले की खान में काम करता था। वहाँ उसने दो खान में कार्य करने वाले लोगों को हवशियों के एक बड़े स्कल के बारे में बातें करते सुना। उसने उस स्कूल में प्रवेश पाने का
तुरन्त ही निश्चय किया। यह उसके जीवन का मुख्य उद्देश्य था।

अपने उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए उसे कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। उसकी माँ कमजोर और बीमार थी। उसने उससे आज्ञा ली और एक छोटे से थैले और धन के साथ वह हेम्पटन की तरफ चल पड़ा। माल्डेन से हेम्पटन की दूरी लगभग पाँच सौ मील थी। पैदल चलकर तथा जहाजों और कारों में बिना पैसे दिये यात्रा करके रिचमॉन्ड पहँचा जो हेम्पटन से लगभग 82 मील दूर था।

लेखक देर रात रिचमॉन्ड पहुँचा। वह थका हआ था, भूख और गन्दा था। उसके पास ठहरने और भोजन के लिए धन नहीं था। वह आधी रात तक गलियों में घूमता रहा। रात बिताने के लिए वह पगडण्डी पर सोया। अगले दिन उसे कच्चा लोहा उतारने का कार्य एक जहाज पर मिल गया। उसे कुछ धन मिल गया और बढ़िया नाश्ता किया। उसने वहाँ कुछ दिन कार्य किया। उसने कुछ धन बचा लिया और हेम्पटन की यात्रा पर आगे चल दिया। लेखक प्रधान अध्यापिका के समक्ष प्रस्तुत हुआ। क्योंकि उसे ढंग का खाना नहीं मिला था, बिना नहाये, बिना साफ कपड़ों के, वह प्रधान अध्यापिका पर प्रभाव नहीं छोड़ सका। उसने अपनी योग्यता दिखाने के अवसर की प्रतीक्षा की। अन्त में प्रधान अध्यापिका ने उससे कथन कक्ष साफ करने को कहा। लेखक ने ईमानदारी से कमरे की सफाई की। प्रधान अध्यापिका ने कमरे का निरीक्षण किया और खुश हो गई। उसने उसे प्रवेश दे दिया। इस प्रकार अनेकों कठिनाइयाँ सहन करके लेखक को प्रवेश मिला।

My Struggle for An Education Class 11
Summary of the Lesson 1 Class 11
Explanations with Reference to the Context Class 11th
Comprehension Questions or Paras Class 11th
Short Answer Type Questions Class 11th
Long Answer Type Questions class 11
FILL IN THE BLANKS Class 11th

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

68 + = 71

Share via
Copy link
Powered by Social Snap