UP Board Syllabus SHORT STORIES Pen Pal
UP Board Syllabus SHORT STORIES DROUGHT

BoardUP Board
Text bookNCERT
Class11th
SubjectEnglish
Chapter3
Chapter name DROUGHT
Chapter NumberNumber 1 Summary of the Story
CategoriesSHORT STORIES Class 11th
UP BOARD SYLLABLES SHORT STORIES DROUGHT Chapter List
NumberChapter
1UP Board Syllabus SHORT STORIES DROUGHT
2UP Board Syllabus SHORT STORIES 11th Chapter 3 Short Questions Answer
3UP Board Syllabus SHORT STORIES 11th Chapter 3 Long Questions Answer

Summary of the Story

Introduction

Introduction : ‘Drought’ is the story in which landlord and the poor farmer both in their real forn are depicted. The story took place in Kashinur, a small village of Bengal. That year paddy crop was very poor Small farmers could not get enough rice to eat and straw to feed their cattle. There were no rains, hence there was scarcity of drinking water.

Gafur

Gafur: Kashipur was a stnall village. Shibu Babu was the Zainindar. He was very cruel. A poor farmer named Gafur lived in that village. He had a daughter, Amina and a bull whom he called Mahesh.

Drought

Drought: There was drought. It was nearing the end of May but there was no cloud in the sky. Everything was burnt to cinders. There was no grass anywhere. There was a little water in the private tank of Shibu Babu.

Priest Turakratna and Gafur

Priest Turakratna and Gafur: One day a priest Tarakratna was coming from the house of the landlord. He stopped in front of Gafur’s house. He addressed Gafur that he should be careful about the proper feeding of the bull Mahesh. Gafur replied very humbly that he had nothing to give to his bull. He could not let the bull go anywhere because the people had not thrashed all their paddy yet. The priest had a bundle of rice and fruits in his hand. He was standing near the bull so it tried to get the bundle of rice because the bull was hungry.

Mahesh; in police pen

Mahesh; in police pen : Amina told Gafur that Mahesh had been sent to the police pen bacause it entered the garden of Manik Ghose. Gafur went to Banshi’s
shop at night and pawned brass plate. He got one rupee and next morning, he brought the bull back

Gafur’s love for the bull

Gafur’s love for the bull: Gafur loved Mahesh; the bull, very much. He was very much troubled of his poverty. One day, he decided to sell the bull but the moment, he came to know that the buyer was a butcher. He refused to sell it out of his love for the bull. He had tears in his eyes and said to himself that he would never sell it.

Gafur slapped Amina

Gafur slapped Amina : Gafur grew very weak bacause of his illness. He had nothing in his house. So he went out in search of some job. He did not get success. He was worried, hungry and thirsty. He was tired also. He asked Amina that she should give him something to eat. Amina told that there was nothing in the house to be given as food. He then asked her to give him water to drink. She denied that water was not also in the house. Hearing this, he lost his temper and slapped at Amina’s face. Taking the pitcher, Amina went to fetch water.

Gafur was beaten

Gafur was beaten : Gafur’s bull had entered landlord’s garden and caused harm to it. It had hurt his daughter also. The landlord called Gafur to him and his men beat him cruelly. Gafur felt sad and he forgot even his hunger and thirst.

Gafur killed Mahesh

Gafur killed Mahesh : Amina brought water from the tank. The bull forcibly took the water that Amina had brought. Amina fell down. The pitcher was also broken to pieces. The water flowed on the ground. The bull was sucking the water. Meanwhile, Gafur came and he, at once, took up the plowhead and struck it heavily on the bent head of the bull. The bull fell down and died.

Gafur left the village

Gafur left the village: Gafur was now very badly troubled. He did not kill the bull Intentionally. He simply wanted to punish it and cause fear in it. All this happened when he was in rage and lost control over himself. He repented at his heart. It was dead of night, he took Amina with him and went out. He left the village for ever. He decided to work in the jute millat Fulbere.

Gafur’s prayer to God

Gafur’s prayer to God : Before leaving his house Gafur cried to God. He asked God to punish him as much as He liked. But He should never forgive the landlord who did not allow Mahesh to eat the grass and drink the water He had given.

प्रस्तावना

प्रस्तावना-‘Drought’ कहानी में जमीदार और गरीब किसान दोनों के वास्तविक जीवन का चित्रण है। कहानी बंगाल के एक छोटे से गाँव काशीपुर में घटित हुई। उस वर्ष धान की फसल बहुत खराब थी। छोटे किसानों को खाने के लिए धान तथा जानवरों के लिए भूसा नहीं मिल सका । वर्षा नही

गफूर

गफूर-काशीपुर छोटा गाँव था। वहाँ शिबू बाबू जमींदार था। वह बहुत निर्दयी था। उस गाँव में एक गरीब किसान गफूर रहता था। उसकी एक बेटी अमीना थी और एक बैल था जिसका नाम महेश था।

सूखा

सूखा-वहाँ सूखा था। मई माह का अन्त था लेकिन आकाश में बादल नहीं थे। सभी चीजें गर्मी से तप रही थी। कहीं भी घास नहीं थी। जमींदार शिबू बाबू के तालाब में थोड़ा सा पानी था।

पुजारी तारकरत्न और गफूर

पुजारी तारकरत्न और गफूर-एक दिन तारकरन पुजारी जमींदार के घर से आ रहा था। वह गफूर के घर के सामने रुक गया। उसने गफूर से कहा कि वह महेश बैल के खाने-पाने की अच्छी व्यवस्था करे। उसने नम्रतापूर्वक उत्तर दिया कि उसके पास महेश को खिलाने को कुछ भी नहीं था। वहीं महेश को कहीं जाने भी नहीं देता क्योंकि अभी तक लोगों ने धान की मड़ाई नहीं की है। पुजारी के हाथ में चावल और फलों की पोटली थी। वह बैल के पास खड़ा था इसलिए बैल ने भूखा होने के कारण चावल के गठ्ठर को खाना चाहा।

महेश, मयेशी खाने में

महेश, मयेशी खाने में-अमीना ने गफूर से कहा कि महेश मवेशी खाने में है क्योंकि वह मानिक घोष के बगीचे में घुस गया था। रात को गफूर बन्शी की दुकान पर गया और पीतल की तश्तरी गिरवी रख दी। उसे एक रुपया मिल गया और अगले दिन वह खेल को वापस लाया।

गफूर

गफूर का बैल के प्रति प्रेम-गफूर महेश बैल को बहुत प्यार करता था। वह अपनी गरीबी से बहुत परेशान था। एक दिन उसने बैल को बेचने की सोची किन्तु उसी क्षण उसे पता चला कि खरीदार कसाई था। उसने बैल के प्रति प्रेम के कारण बेचने से मना कर दिया। उसकी आँखों में आंसू थे उसने कहा कि वह बैल को कभी नहीं बेचेगा।

गफूर ने अमीना को घाँटा मारा

गफूर ने अमीना को घाँटा मारा-अपनी बीमारी के कारण गफर बहुत कमजोर हो गया था। उसके घर में कुछ नहीं था। अतः वह काम की तलाश में बाहर गया। उसे सफलता नहीं मिली। वह चिन्तित भूखा और प्यासा था। वह थका हुआ भी था। उसने अमीना से कुछ खाने के लिए देने को कहा। अमीना
ने कहा कि भोजन के रूप में देने के लिए घर में कुछ भी नहीं था। फिर उसने पीने के लिए पानी मांगा। उसने मना किया कि पीने के लिए पानी भी नहीं था। यह सुनकर उसने अपना आपा खो दिया और अमीना के गाल पर चाँथ मार दिया। घड़ा लेकर अमीना पानी लेने चली गई।

गफूर पीटा गया

गफूर पीटा गया-गफूर का बैल जमीदार के बगीचे में धुस गया था और उसमें नुकसान कर दिया था। उसने उसकी बेटी को भी चोट पहुँचाई थी। जमींदार ने उसे अपने पास बुलाया तथा उसके आदमियों ने उसे पीटा। गफूर उदास हो गया और यहाँ तक कि वह अपनी भूख और प्यास को भी भूल गया।

गफूर ने महेश को मार दिया

गफूर ने महेश को मार दिया-अमीना तालाब से पानी लाई। बैल ने ताकत से पानी को ले लिया जिसे अमीना लाई थी। अमीना गिर गई। घड़ा भी टूट गया। पानी जमीन पर बहने लगा। बैल पानी पी रहा था। तभी वहाँ गफूर आ गया और उसने तुरन्त हल की फाल को उठा लिया और झुके हुए बैल के
सिर पर मार दिया। बैल गिर पड़ा और मर गया।

गपूर ने गाँव छोड़ दिया

गपूर ने गाँव छोड़ दिया-अब गफूर खुरी तरह परेशान हो गया। उसने बैल को जानबूझ कर नहीं मारा था। वह उसे केवल दण्ड देना और भय दिखाना चाहता था। यह सब गुस्से में तथा सन्तुलन खो’ देने के कारण हुआ। उसने दिल से पश्चाताप किया। रात का अन्तिम पहर था, उसने अमीना को अपने
साथ लिया और बाहर निकल गया। उसने हमेशा के लिए गाँव छोड़ दिया। उसने फूलबेड़े की जूट मिल में काम करने का निश्चय किया।

गफूर की ईश्वर से प्रार्थना

गफूर की ईश्वर से प्रार्थना-घर छोड़ने से पहले गफूर ने जोर से ईश्वर से कहा। उसने स्वयं को अधिकाधिक दण्डित करने को कहा। लेकिन उसे जमींदार को माफ नहीं करना चाहिए जिसने ईश्वर की दी हुई घास और पानी महेश को प्रयोग नहीं करने दी।

UP BOARD SYLLABLES SHORT STORIES DROUGHT Chapter List
NumberChapter
1UP Board Syllabus SHORT STORIES DROUGHT
2UP Board Syllabus SHORT STORIES 11th Chapter 3 Short Questions Answer
3UP Board Syllabus SHORT STORIES 11th Chapter 3 Long Questions Answer

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

42 − 36 =

Share via
Copy link
Powered by Social Snap