UP Board syllabus Class 12
BoardUP Board
Text bookNCERT
Class 12th
SubjectEnglish
Chapter Chapter 2
Chapter nameA FELLOW TRAVELLER
Chapter Number Number 5 Short Questions Answer
CategoryEnglish PROSE Class 12th

UP board chapter 2 Class 12 English

  1. UP Board Master Chapter 2 Class 12th A FELLOW TRAVELLER
  2. UP Board Master Chapter 2 Class 12th Summary of the Lesson
  3. UP Board Master Chapter 2 Class 12 Explanation
  4. UP Board Master chapter 2 Class 12 Comprehension Questions on Paras
  5. UP board Master chapter 2 Class 12 Short Questions Answer
  6. UP board chapter 2 Class 12 Long Questions Answer
  7. UP board chapter 2 Class 12 FILL IN THE BLANKS

.

Q.1.What according to A.G.Gardiner, is the ‘pleasant sense of freedom about being alone in a compartment?
ए. जी. गाडिनर के अनुसार रेलगाड़ी के डिब्बे में अकेले होने की स्वतन्त्रता की सुखद अनुभूति’ क्या है ?

Ans. The pleasant sense of freedom about being alone in a carriage is liberty and unrestraint.
_रेलगाड़ी के डिब्बे में अकेले होने की स्वतन्त्रता की सुखद अनुभूति आजादी और किसी भी प्रकार की रोक-टोक से मुक्ति है।

Q. 2. What did the author do while travelling alone in the compartment?
रेल के डिब्बे में अकेले यात्रा करते समय लेखक ने क्या किया ?

Ans. The author put down his paper, stretched his arms and legs, stood up and looked out of the window, crossed the carriage, lit a cigarette, sat down and began
to read again.

लेखक ने समाचार-पत्र नीचे रख दिया. अपने हाथों और पैरों को फैलाया, खझ हुआ और खिड़की से बाहर देखा, डिये के एक पार से दूसरी पार गया, सिगरेट सुलगाई, बैठ गया और पुनः समाचार-पत्र पढ़ने लगा।

Q.3. When did the author become aware of his fellow-traveller?
लेखक को अपने सहयात्री का पता कब लगा ?

Ans. The author became aware of his fellow-traveller when it came and sat on his nose.
लेखक को अपने सहयात्री का पता लगा जब वह आया और उसकी नाक पर बैठ गया।

Q.4. What did the author do when the fellow-traveller came and sat on his nose?
. जब सहयात्री आया और उसकी नाक पर बैठ गया तो लेखक ने क्या किया ?

Ans. When the fellow-traveller came and sat on his nose the author flicked it _off.
जय सहयात्री आया और लेखक की नाक पर बैठ गया तो उसने उसे उड़ा दिया।

Q.5. What did the writer say when the mosquito seated himself impudenty on the back of his hand ?
जब मच्छर अभद्रतापूर्वक उसके हाथ पर उल्टी ओर बैठ गया तो लेखक ने क्या कहा?

Ans. When the mosquito came and sat on the back of the author’s hand he same that it was enough and that magnaniinity has its limits.
जब मच्छर आया और लेखक के हाथ पर उल्टी और बैठ गया तो लेखक ने कहा कि यह पर्याप्त और, उदारता की अपनी सीमा होती है।

Q. 6. Who was the ‘skilful matador finessing round an infuriated bull’ ? And who was the infuriated bull ?
कुद्ध सांड के चारी ओर चतुराई से इधर-उधर उछलता हआ कुशल वृषहन्ता कौन था। आर कुछ
साँड कौन था?

Ans. The mosquito was the ‘skilful matador finessing round the author who was ‘an infuriated bull’.
कुद्ध साँड लेखक था और उसके चारों ओर चतराई से इधर-उधर उछलता हुआ वृषहन्ता मच्छर था।

Q.7. What does the abbreviation D.O.R.A. stand for?
D.O.R.A. किसका संक्षिप्त रूप है?

Ans. D.O.R.A. stands for ‘Defence of Realm Act’, which gave great powers to the British government during world war.
D.O.R.A The Defence of the Realm Act’ का संक्षिप्त रूप है जो अंग्रेजी सरकार के द्वारा प्रथम विश्वयुद्ध के समय लागू किया गया।

Q. 8. Give a brief description of the train A. G. Gardiner was travelling by?
उस रेलगाड़ी का संक्षिप्त वर्णन कीजिए, जिसमें ए.जी. गार्डिनर यात्रा कर रहा था।

Ans. A. G. Gardiner travelled by a stopping train. It was the last train from London to Midland town.
ए.जी, गार्डिनर जगह-जगह रुकने वाली रेलगाड़ी से यात्रा कर रहा था। यह लन्दन से मिडलण्ड जाने वाली अन्तिम गाड़ी थी।

Q. 9. What can one do freely while travelling alone in a carriage of a night train according to A. G. Gardiner?
ए. जी. गार्डिनर के अनुसार रात की गाड़ी से अकेले डिब्बे में यात्रा करते समय एक व्यक्ति स्वतन्त्रतापूर्वक क्या कर सकता है?

Ans. While travelling alone in a carriage of a night train one is free to do what. one likes. One can talk to oneself, one can sing, dance and practice golf stroke. One
can sit on any seat he likes with open windows or shut windows

रात की गाडी से डिब्बे में अकेले यात्रा करते समय एक व्यक्ति जो चाहे सो करने के लिए होता है। कोई स्वयं से बातें कर सकता है, गाना गा सकता है, नाच सकता है और गोल्फ खेलने का अभ्यास कर सकता है। वह किसी भी सीट पर खिड़की खालकर या बन्द करके बैठ सकता है।

Q10. Who was the fellow-traveller ? What relationship did the author develop with the fellow-traveller?
सह-यात्री कौन था? लेखक ने सह-यात्री से क्या आत्मीयता विकसित की?

Ans. Mosquito was the fellow-traveller. The author developed the relationshin of a fellow mortal while making the journey of life.
सह-यात्री एक मच्छर था। लेखक ने उससे एक नाशवान साथी की आत्मीयता यात्रा करते समय विकसित की।

Q. 11. ‘Magnanimity has its limits.’Who said it and why?
‘उदारता की सीमा होती है। यह किसने कहा और क्यों?

Ang. The author A.G. Gardiner said these words. He said so when the mosquito came and sat on his body again after he had flicked it off twice.
ये शब्द लेखक ए. जी. गार्डिनर ने कहे । यह उसने तब कहा जब मच्छर आया और उसे बार-बार उड़ा देने के बाद भी उसके शरीर पर आकर बैठ गया।

Q.12.What relationshipdid the author develop with his fellow traveller in the lesson ‘A Fellow Traveller’?
‘A Fellow Traveller’ पाठ में लेखक ने सहयात्री से क्या आत्मीयता विकसित की?

Ans. The author developed a more distant relationship with his fellow-traveller. It was based on equality.
लेखक ने कुछ दूर की आत्मीयता सहयात्री से विकसित की। यह समानता पर आधारित थी।

Q. 13. Why did the author decide to be magnanimous and merciful to the fellow traveller?
लेखक ने अपने सहयात्री के प्रति उदार और दयालु होने का निश्चय क्यों किया?

Ans. The author decided to be magnaniinous and merciful to the fellow traveller because magnanimity and mercy were the noblest quality of man.
लेखक ने अपने सहयात्री के प्रति उदार और दयाल होने का निश्चय किया क्योंकि उदारता और दयालुता मनुष्य के सर्वोत्तम गुण होते है।

Q. 14. What according to A. G. Gardiner, are the advantages to travelling alone in a railway compartment?
ए.जी. गार्डिनर के अनुसार रेल के डिब्बे में अकेले यात्रा करने के क्या लाभ हैं? ।

Ans. The advantages of travelling alone in a railway compartment are that one can enjoy full freedom. One can do anything one likes without irritating any one
else.

रेल के डिब्बे में अकेले यात्रा करने से लाभ हैं कि मनुष्य पूर्ण स्वतन्त्रता का आनन्द ले सकता है। वह किसी को बिना चिढ़ाये जो चाहे सो कर सकता है

UP board chapter 2 Class 12 English

  1. UP Board Master Chapter 2 Class 12th A FELLOW TRAVELLER
  2. UP Board Master Chapter 2 Class 12th Summary of the Lesson
  3. UP Board Master Chapter 2 Class 12 Explanation
  4. UP Board Master chapter 2 Class 12 Comprehension Questions on Paras
  5. UP board Master chapter 2 Class 12 Short Questions Answer
  6. UP board chapter 2 Class 12 Long Questions Answer
  7. UP board chapter 2 Class 12 FILL IN THE BLANKS

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap